पंजाबी सिनेमा से ‘मोह’ करवाते हैं ये लोग

पंजाबी फिल्मों में अव्वल तो कॉमेडी ही दिखाई जाती है। पूरे देश के फ़िल्म उद्योग में सबसे ज्यादा फिल्मों व कमाई में योगदान देने वाली इंडस्ट्री का भी यही हाल होगा तो उनके लिए लिखने, बोलने वाले कला फ़िल्म समीक्षक कहाँ से आएंगे? कौन...

भव्यता की तेज आंच में पिघलता ‘ब्रह्मास्त्र’ का भाग एक ‘शिवा’

हमारा भारतवर्ष जिसका इतिहास खूबसूरत अनोखी कहानियों से सजा हुआ है। इस फिल्म में इतिहास की उन्हीं अनोखी कहानियों में से एक का जिक्र मिलता है। फिल्म शुरू होती है तो अमिताभ बच्चन की भारी भरकम आवाज में फिल्म की कहानी नरेशन के रूप...

वेब सीरीज रिव्यू – सपनों की चादर में जिंदगी का ‘अखाड़ा’

हरियाणा पहलवानों और अखाड़े की धरती, देश के लिए सबसे ज्यादा मैडल लेकर आने वाले प्रांत की धरती। वहीं क्षेत्रीय सिनेमा के मामले में तेजी से ओटीटी पर आगे बढ़ रही स्टेज एप्प की धरती पर रिलीज हुई अखाड़ा कैसी है जानना चाहेंगे? सबसे पहली...

गौरवशाली इतिहास की गाथा ‘शाकुन्तलम’ में

महाभारत काल की प्रेम कहानियों से भला कौन परिचित नहीं होगा? ऐसी ही एक कहानी थी राजा दुष्यंत और शकुंतला की प्रेम कहानी। भला कोई ऐसा होगा जो इनकी कहानी से अनभिज्ञ होगा? संक्षिप्त रूप में कहानी फिर भी बता दूं - राजा दुष्यंत एक...

सिनेमा के करम से आपकी जेबों पर डाका डालने आया ‘शमशेरा’

आपको याद तो होगा ही कुछ समय पहले की ही बात है जब सिनेमाघरों के माध्यम से आपकी जेबों को लूटने की नाकाम कोशिशें की गईं की। वे लोग थे ठग्स ऑफ़ हिंदोस्तान के नाम से सिनेमाई करम करने वाले निर्माता, निर्देशक। ठीक वैसा...

अपने ही ‘अनेक’ के फेर में उलझती फिल्म

कभी किसी जमाने में अमीर खुसरो ने कहा था "गर फिरदौस बर रूह-ए-अमी अस्तो, अमी अस्तो अमी अस्त" यानी कहीं कुछ स्वर्ग है तो यहीं है, यहीं है यहीं है। अनुभव सिन्हा की फिल्म में भी सही जगह इस्तेमाल हुई ये पंक्तियाँ अनुभव सिन्हा...