उजली किरण और हलका सा अँधियारा
कम्बल में छिप कर देखूँ जहाँ जाए नज़ारा
चिड़ियों की चह-चहाट और सूरज की किरणें
खेलते हुए बच्चे और सागर की लहरें।
नींद से जागी दुनिया चिड़ियों के चहकने से
पलकें लगे भारी शबनम की बूँदों से
आँख मेरी बंद पर अहसास करूँ में सृष्टि को
धन्यवाद कहने से न थकूँ
इतनी सूंदर प्रकृति को।
सूंदर ये धरती, सूंदर ये प्रकृति
सूंदर ये दिन और सूंदर हैं रातें,
जिस अंधकार में छिपी है कई राज़ की बातें।
अचानक देखूँ बदल रही है प्रकृति
सूरज बरसा रहा है अग्नि की आहुति
हवा में उठी लहरें, सागर में उठे प्रवाल
किसी के बस में न था कुछ सोचने का बवाल।
थम गई जिंदगी, थम गई प्रकृति,
समझ में न आये क्या हो रहा और क्या होने को है।
पल भर में उजड़ गई कई ज़िंदगियाँ
चीखें पुकार रह गये रह गई है सिसकियाँ
देखते ही देखते दंग रह गयी दुनिया
सोचती रह गई मैं आँखों में लिए कहानियाँ।
सपना सा लगे क्या वह थी सच
पर जब उजड़ी दुनिया देखूँ
देखूँ ये प्रलय का मंच।
नन्हा सा एक दिया जल उठा लिए गहरा साँस
भगवान तो बैठा है देते हुए जीवन की आस।

लता तेजेश्वर ‘रेणुका’
अंग्रेजी और हिंदी के 8 संकलनों में कविता, लघुकथा, उपन्यास के अंश (खट्टे मीठे रिश्ते) संकलित,
करीब 200से ज्यादा रचनाओं का 50से ज्यादा विख्यात पत्र, पत्रिकाओं, अखबारों, ब्लॉग व अंतर्जाल पटल में प्रकाशित, और कई पुस्तक प्रकाशित.
रेडियो – आकशवाणी, राजस्थान रेडियो में कविताएँ प्रसारित,
टीवी चैनलों- कलिंगा tv, इंडिया tv, kcn headlines यूट्यूब चैनल, और मेरे द्वारा ‘साहित्य संकल्प’ नाम से यूट्यूब चैनल स्थापन जिसमें का पर संस्था के रचनाकारों को रचनाएँ पढ़ने का मौका देने के साथ ही अपनी रचनाएँ और ब्लॉग लेखन आदि प्रसारित। कई साक्षात्कार और किताब पर चर्चा आदि प्रसारित।
मेरी स्वलिखित प्रकाशित पुस्तकें और ई-पुस्तकें:
1.मैं साक्षी इस धरती की, काव्यसंग्रह,
2. हवेली, (सस्पेन्स, थ्रिलर काल्पनिक उपन्यास),
3. The waves of Life, अंग्रेजी में काव्य और कहानी संग्रह,
4. चाँदनी रात में तुम, काव्यसंग्रह,
5. सैलाब, (भोपाल के सबसे बड़ा दुर्घटना गैस रिसाव से आधारित उपन्यास),
6. भावनाएँ महकतीं हैं, काव्यसंग्रह,
7. सुनो हे भागीरथी, काव्यसंग्रह,
8. लहराता चाँद, (मानसिक बीमारी स्क्रिज़ोफ्रेनिया और सामाजिक बुराइयों पर केंद्रित उपन्यास),
9. चंद फुहारें, क्षणिका संग्रह, 2023
अन्य दो पुस्तकें प्रकाशन के लिए तैयार।
तीन संकलनों का संपादन : 1.सीप के मोती, 2.गुलिस्ताँ(25रचनाकारों के द्वारा संकलित 21भाषाओं की लिपिओं के साथ प्रकाशित), 3. मैं भी सैनिक (लघुकथा संकलन)
matrubharati.com साइट पर दो उपन्यासों ‘सैलाब’, ‘लहराता चाँद’ का सीरियल के तहत प्रकाशन, और पाठकों द्वारा चयनित रीडर्स चॉइस अवार्ड प्राप्त, दो विषयों में आमंत्रित लेखनों को पुरस्कृत। इसके अलावा अन्य कई जगह प्रख्यात ऑनलाइन वेबसाइटों पर जैसे प्रतिलिपि, storymirror,… आदि पर रचनाओं का प्रस्तुतिकरण
प्रमुख सम्मान प्राप्त: 2 राष्ट्र स्तरीय सम्मान, रीडर्स चॉइस अवार्ड, विद्योत्तमा सम्मान , नारी गौरत सम्मान, बहुभाषी लेखिका सम्मान, महादेवी वर्मा सम्मान, सहित कुल 16 सम्मानों से सम्मनित।
  1. Lata tejeswar ‘renuka’

Navi mumbai – 410206

मोबाइल : 9004762999

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.