The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 6

जेनमैन आशुतोष कुमार सिंह को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी एवं पूर्व...

स्वस्थ भारत अभियान के राष्ट्रीय संयोजक आशुतोष कुमार सिंह को 2021 का वाग्धारा यंग अचीवर्स अवार्ड राजभवन, महाराष्ट्र  में आयोजित सम्मान समारोह में राज्यपाल...
The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 7

अनुराग आर्य का लेख – गुलज़ार

वो बिमल रॉय, असित सेन ,ऋषिकेश मुखर्जी बासु भट्टाचार्य की स्कूल की पैदाइश था । जिसका अपनी स्टोरी टेलिंग मेथड था । गीत लिखने...

अपनी बात

साक्षात्कार

The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 8

संपादकीय : भारत में ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलों एवं ओ.टी.टी. पर नये...

पिछले दिनों में देखा गया कि ट्विटर और फ़ेसबुक जैसे सोशल साइट विश्व के सबसे ताकतवर इन्सान यानि कि अमरीका के राष्ट्रपति तक को...

कविता

व्यंग्य

कहानी

The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 19

अनघा जोगलेकर की कहानी – राधा की बावड़ी

मुझे ऐतिहासिक इमारतें, किले, म्यूजियम देखने में बड़ी दिलचस्पी थी। मैं नौकरी बैंक में करता था लेकिन जब भी छुट्टी मिलती कोई-न-कोई ऐतिहासिक जगह...

लघुकथा

The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 24

हरदीप सबरवाल की लघुकथा – अपने अपने भ्रमण

यूं दिन तो था किसी बुजुर्ग की अंतिम अरदास और भोग का, पर अलग-अलग शहरों...
The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 25

कामिनी गुप्ता की दो लघुकथाएँ

1 - किलेबंदी एक बार रियासत में कुछ अराजक तत्वों ने राजा को कमज़ोर करने और...
The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 26

उषा साहू की लघुकथा – सा’ब

इंट्रो यह ब्रिटिश के जमाने की कहानी है ।  उन दिनों  भारतीय मातहतों के साथ पशुतुल्य ...
The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 27

बालकृष्ण गुप्ता ‘गुरु’ की दो लघुकथाएँ

परछाईं सीमा की ओर प्रस्थान करने को आतुर फौजी पिता की गोद में चढ़ते हुए बेटे...
The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 28

शिवनाथ सिंह की लघुकथा – मैं अभी और जीना चाहती हूँ

उस दिन नीलम के घर का माहौल सुबह से ही कुछ रोमांटिक सा हो चला...

पुस्तक समीक्षा

ग़ज़ल एवं गीत

सामाजिक यथार्थ का साहित्यिक पटल – अंतहीनः विमर्शों का पुंज

वही साहित्य कालजयी बन पाता है जो अपने समाज का प्रतिबिंब होता है।  और एकदेशीय होने के बावजूद वही साहित्यकार सार्वभौमिक बन सकता है...

डॉ. योग्यता भार्गव द्वारा अन्नपूर्णा सिसोदिया के काव्य-संग्रह ‘औरत बुद्ध नहीं...

'औरत बुद्ध नहीं हो पाती क्योंकि वह जब माँ होती है तो कुछ और नहीं होती, बनी रहती है जीवन पर्यंत , सांसारिक मोह माया से...

डॉ. यासमीन मूमल की ग़ज़ल – दर्द मेरे थे जितने सभी मेरे दिल में निहाँ हो गए

The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 33
दिल में दफ़ना चुके थे जिन्हें वो भी फ़ौरन अयाँ हो गए कर लिया  उसने  इक़रार  जब सारे...

निज़ाम फतेहपुरी की दो ग़ज़लें

The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 34
1 ग़ज़ल नक्ल हो अच्छी आदत नहीं है। कहे खुद की सब में ये ताकत नहीं है।। है  आसान  इतना ...

लेख

फ़िल्म समीक्षा

The Purvai - अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता 35

अनुराग आर्य का लेख – गुलज़ार

वो बिमल रॉय, असित सेन ,ऋषिकेश मुखर्जी बासु भट्टाचार्य की स्कूल की पैदाइश था । जिसका अपनी स्टोरी टेलिंग मेथड था । गीत लिखने...

बाल साहित्य

इधर उधर से