प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा सम्मानित... 3
जामिया मिल्लिया इस्लामिया की प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा
2022 के नार्वे अंतर्राष्ट्रीय प्रेमचंद सम्मान से विभूषित
  • डॉ तबस्सुम जहां
कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की जयंती पर नार्वे की अंतर्राष्ट्रीय प्रेमचंद सम्मान साहित्य समिति द्वारा जामिया मिल्लिया इस्लामिया की प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा को 2022 के अंतर्राष्ट्रीय प्रेमचंद सम्मान से विभूषित किया गया। साहित्य के इस सम्मान से हरेक वर्ष नार्वे द्वारा मुंशी प्रेमचंद जयंती पर कथा साहित्य, कविता, आलोचना, कला के क्षेत्र में, अंतर्राष्ट्रीय प्रेमचंद रंग सम्मान और पत्रकारिता, सोशल मीडिया के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य के लिए अनेक विद्वानों को यह सम्मान दिया गया है।
जामिया मिल्लिया इस्लामिया हिंदी विभाग की प्रोफेसर और वर्तमान में जवाहर लाल नेहरु सेंटर की डायरेक्टर प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा को इस वर्ष इस सम्मान से नवाज़ा गया। इससे पहले प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा को शिक्षण के क्षेत्र में अनेक राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय पुरुस्कारों से सुशोभित किया जा चुका है जिसमें राष्ट्रभाषा समिति द्वारा हिंदी सेवा सम्मान, नानक शोध संस्थान पटियाला द्वारा महिला शोध सम्मान, महिला सेवा संस्थान जालंधर द्वारा महिला शिक्षा सम्मान, संसदीय मामलों के मंत्रालय भारत सरकार द्वारा सम्मान, भारत सरकार के गृह मंत्रालय के राजभाषा विभाग द्वारा हिंदी सेवा सम्मान, केंद्र के शिक्षा मंत्रालय द्वारा सम्मान, इंदिरा गाँधी विश्वविद्यालय मीरपुर द्वारा सम्मान, राजभाषा भूषण सम्मान, हिंदी प्रचारिणी सभा मॉरिशस सम्मान और गोपालराम गहमरी साहित्यिक सम्मान से प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा को नवाज़ा जा चुका है।
पुरुस्कार प्राप्ति के अवसर पर प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा ने सभा मे उपस्थित सभी विद्वानों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह गर्व की बात है कि यह सम्मान हिंदी कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद के नाम से दिया जा रहा है। हमें ख़ुशी इस बात की भी है कि यह सम्मान उस देश से दिया जा रहा है जिसका हिंदी से कोई नाता नहीं है। हिंदी और हिंद की संतानों ने हिंदी का मान बढ़ाया है, उन्होंने कहा कि आज के कार्यक्रम में देश विदेश से हिंदी के प्रेमी जुड़े हुए हैं, आज हम अपने देश के ऐसे कथाकार मुंशी प्रेमचंद को याद कर रहे हैं जिन्होंने अपने साहित्य से सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया।
अंतर्राष्ट्रीय प्रेमचंद सम्मान समिति नार्वे के अध्यक्ष सुरेश चंद्रा शुक्ला ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी विद्वानों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह खुशी की बात है कि अब हिंदी सिर्फ़ हिंदुस्तान तक सीमित नहीं है। हमें ख़ुशी है कि साहित्य के क्षेत्र में हिंदी का मान सम्मान बढ़ाने वाली जामिया मिल्लिया इस्लामिया हिंदी विभाग की प्रोफेसर व जवाहरलाल नेहरु केंद्र की निदेशक प्रोफेसर इंदु वीरेंद्रा को सम्मानित किया गया है।

1 टिप्पणी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.