Saturday, May 18, 2024
होमसाहित्यिक हलचलभारतीय भाषा परिषद और सदीनामा ने किया दो विशेषांकों का लोकार्पण

भारतीय भाषा परिषद और सदीनामा ने किया दो विशेषांकों का लोकार्पण

21 मई, कोलकाता 2023 को भारतीय भाषा परिषद सभाकक्ष, कोलकाता में सदीनामा पत्रिका और भारतीय भाषा परिषद ने सदीनामा पत्रिका के दो विशेषांको का लोकार्पण किया। विशेषांक थे प्रवासी साहित्य विशेषांक और अभय छजलानी विशेषांक (मार्च 2023)। डॉ शंभुनाथ, निदेशक तथा सम्पादक, वागर्थ पत्रिका, प्रो. संजय कुमार जयसवाल, प्रिंसिपल , लाल बाबा कॉलेज, कमलेश कुमार पांडे, हिन्दी विभाग अध्यक्ष ,सेंट पॉल कालेज, जनसत्ता के भूतपूर्व सम्पादक , शैलेंद्र शांत, डॉ. अभिज्ञात, कवि लेखक, पत्रकार तथा आलोक बच्छावत,अभय छजलानी के नजदीकी रिश्तेदार और समाजसेवी तथा अन्य।
सदीनामा और भारतीय भाषा परिषद ने दो दिवसीय प्रवासी साहित्य में भारतीयता विषय पर सेमिनार किया था। इसी सेमिनार पर आधारित है प्रवासी साहित्य विशेषांक। इसमें जिन लोगों ने लिखा है वे है :तेजेन्द्र शर्मा, डॉ. पलासी विश्वास, दिव्या प्रसाद, कुंवर वीर सिंह मार्तंड, पूर्णिमा बर्मन ,डॉ इंदू सिंह, राहुल शर्मा, तरुण कुमार, देवी नागरानी , डॉ. कार्तिक चौधरी, रेणुका अस्थाना,डॉ. रेशमी पांडा मुखर्जी,डॉ. चंद्रमौली सेनगुप्ता, डॉ. अनीता उपाध्याय इस अंक का संयोजन किया कथाकर रेणुका अस्थाना ने और सह संपादकीय लिखी मीनाक्षी सांगानेरिया ने ।इसमें दो कहानियां भी है,”वह मांजी लाखों में एक थी”अर्चना पैन्यूली ,”मोह के धागे”वीणा विज उदित तथा इसके सम्पादक है जीतेंद्र जीतांशु।
अभय छजलानी भारतीय पत्रकारिता का एक बड़ा नाम है । अभय छजलानी विशेषांक के लेखकों में हैं डॉ. अभिज्ञात, राकेश अचल, अभिषेक छजलानी, नवीन जैन, संदीप सिंह सिसोदिया, सारंग क्षीरसागर, डॉ. भरत छापरवाल , नवीन रांगियाल , शिवकुमार अभिषेक, जयदीप कर्णिक, प्रवीन शर्मा, रामशरण जोशी, जय नागड़ा, अजय बोकिल, निर्मला भुराडिया, मनोज श्रीवास्तव, विनय छजलानी, विजय मोहन तिवारी, विभूति शर्मा ,पंकज मुकाती, रुचिता तुषार नीमा । इसमें इंदौर के शशांक दुबे का व्यंग्य भी है। संपादक हैं ,जीतेंद्र जीतांशु। इसके संयोजन में शामिल थे अनिरुद्ध जोशी , डॉ.अभिज्ञात, वीरेंद्र झाला और मीनाक्षी सांगानेरिया।
कार्यक्रम के संयोजन, संचालक और परिकल्पनाकार जीतेंद्र जीतांशु थे ।
वक्तव्य रखा डॉ. अभिज्ञात (अभय छजलानी विशेषांक), प्रो. दिव्या प्रसाद (प्रवासी साहित्य विशेषांक) तथा अन्य ने। कार्यक्रम का संयोजक मंडल में कई लोग शामिल थे ।
इसके बाद कवि सम्मेलन आयोजित हुआ।
जिसमें शामिल थे – राम नारायण झा, रमेश शर्मा ,रचना सरन, श्वेता गुप्ता, ओम प्रकाश मिश्र, उषा जैन, संजय कुमार जायसवाल,गोपालजी,आशा उपाध्याय, सोहेल खान सोहेल, मीनाक्षी सांगानेरिया, अंबर सिद्दीकी, मुर्शीद बर्नपुरी,अशरफ याकूबी,रचना सरन, सेराज खान बातिश,जीतेंद्र जीतांशु तथा शैलेंद्र शांत
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Most Popular

Latest

Latest