संपादकीय – सऊदी अरब में 8000 वर्ष पुराना शहर और मंदिर

अभी किसी भी आधिकारिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में हिन्दू मंदिर या देवी देवताओं के बारे में कोई ज़िक्र नहीं किया गया है। हमें सब्र से प्रतीक्षा करनी चाहिये। ‘पुरवाई’ का यह कहना नहीं है कि यह मंदिर हिन्दू मंदिर नहीं हो सकता। मगर यह कहना...

संपादकीय – ब्रिटेन में बढ़ती महंगाई और हड़तालों का दौर

हड़ताल का मतलब होता है कि हमें अपनी बात अपनी मैनेजमेंट तक पहुंचानी है। कंपनी को नुक्सान पहुंचाना या देश की संपत्ति को जलाना हमारा उद्देश्य बिल्कुल नहीं होता। यात्री भी मुस्कुराते हुए आते हैं, पिकेट लाइन पर आकर अपना समर्थन जताते हैं और...

संपादकीय – इंग्लैण्ड के बहुत से हिस्सों में सूखा घोषित

जलवायु परिवर्तन का खेल कुछ ऐसा है कि दिल्ली में यमुना ख़तरे के जलस्तर तक पहुंच गयी है और पूरा यूरोप धीरे-धीरे रेगिस्तान में परिवर्तित हो रहा है। यहां की धरती ने दशकों बाद ऐसी गंभीर हालत महसूस की होगी। जहां दिन में तीन...

संपादकीय – ई.डी. काल बदल देता है

सोच तो शायद ‘पुरवाई’ के पाठक भी रहे होंगे कि ईडी को वर्तमान सरकार ने ही विपक्षी दलों को डराने-धमकाने के लिये बनाया है। इसी लिये हमने तय किया कि हम अपने पाठकों को ईडी के बारे में कुछ सच्ची जानकारी अवश्य उपलब्ध करवाएं...

संपादकीय – कचरे के ढेरों तले दबते महानगर

भारत में कचरा प्रबंधन मूल रूप से नगरपालिकाओं की जिम्मेदारी है। इसी जिम्मेदारी को सही ढंग से नहीं निभाने के कारण 1996 में सुप्रीम कोर्ट में भारत सरकार, राज्यों व नगरपालिकाओं के अधिकारियों के खिलाफ एक जनहित याचिका भी दायर की गई थी। इस...

संपादकीय – ब्रिटेन और भारत के बीच शिक्षा के क्षेत्र में ऐतिहासिक समझौता

भारत में इस बात पर हर्ष प्रकट किया जा रहा है कि भारत के सीनियर सेकण्डरी स्कूल के प्रमाण पत्र को ब्रिटेन में उच्च शिक्षा के लिये मान्य माना जाएगा। सरल शब्दों में कहा जाए तो अब भारत की डिग्री को ब्रिटेन में समान...