फिल्म जगत के लिए बीता बरस कई नुकसान लेकर आया। कई बेहतरीन कलाकारों को मनोरंजन उद्योग ने हमेशा के लिए खो दिया। महान अदाकार दिलीप कुमार को तो खोया ही हमने। साथ साथ रिंकू सिंह निक्म्भ एवम सिद्धार्थ शुक्ला जैसे उभरते कलाकार ने भी दुनिया को खैरबाद कह दिया।
दिलीप कुमार
सात जुलाई के दिन भारतीय सिनेमा के अज़ीम फनकार दिलीप कुमार का देहांत हुआ। मुंबई के अस्पताल के आपने अंतिम सांसें लीं। सांस लेने में तकलीफ़ की शिकायत के बाद आपको 30 जून को हिंदुजा अस्पताल में लाया गया था। निधन की खबर को परिवार के करीबी फैसल फारूकी ने ट्विटर पर सबसे पहले कन्फर्म किया था। अभिनेता को पूरे राजकीय सम्मान के साथ जुहू कब्रिस्तान में सुपुर्दे ख़ाक किया गया। मरहूम की अंतिम यात्रा को अमिताभ बच्चन जैसे लोगों ने अटेंड किया था। शाहरुख खान से लेकर करन जोहर तक फिल्म इंडस्ट्री जुड़े तमाम चेहरों ने दिलीप साहेब के परिवार से मिलकर संवेदना व्यक्त की थी।
सिद्धार्थ शुक्ला
मशहूर मॉडल एवम अभिनेता बिग बॉस 13 के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला भी बीते बरस हम सबसे रूठ कर चले गए। यह सामने से गुजरने वाली सबसे अधिक स्तब्ध कर देने वाली खबर थी। मनोरंजन जगत पूरा हैरान था। महज 40 साल के सिद्धार्थ शुक्ला ने दुनिया को खैरबाद कह दिया।मुंबई के कूपर अस्पताल ने सिद्धार्थ के निधन की पुष्टि की थी।सिद्धार्थ शुक्ला का अस्पताल में इलाज चल रहा था लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। सिद्धार्थ शुक्ला ने टीवी के कई फेमस शो में काम किया। उन्हें मौजूदा दौर के बेहतरीन टीवी कलाकारों में गिना जाता था। सिद्धार्थ शुक्ला के बारे में सुनकर सोशल मीडिया हैरत में थी। कई लोगों को यकीन नहीं हो रहा कि था कि अपनी एक्टिंग के जरिए दिलों को जीतने वाला कलाकार अब उनके बीच नहीं था।
पुनीत राजकुमार
कन्नड़ फिल्मों के सुपरस्टार पुनीत राजकुमार भी करोड़ों लोगों को स्तब्ध कर बीते साल चले गए।। शुक्रवार 29 अक्टूबर की सुबह कार्डिएक अरेस्ट के बाद उन्हें हॉस्पिटल के आईसीयू में लाया गया था। किंतु इलाज के दौरान ही उनका निधन हो गया। पुनीत कन्‍नड़ फ‍िल्‍म इंडस्‍ट्री के बड़े नायक थे । पुनीत ने बचपन में ही नेशनल अवार्ड अपने नाम कर लिया था। आपको 1983 में फ‍िल्‍म भक्‍त प्रह्लाद के लिए कर्नाटक स्‍टेट फ‍िल्‍म अवॉर्ड का श्रेष्ठ बाल कलाकार पुरस्‍कार म‍िला था। सन 1985 में आई फ‍िल्‍म बेत्‍ताडा हूवू के ल‍िए 33वें नेशनल फ‍िल्‍म अवार्ड में श्रेष्ठ बाल कलाकार का पुरस्कार जीत कर नाम किया था। पुनीत राजकुमार पहली बार बतौर मुख्य अभिनेता फ‍िल्‍म अप्‍पू में नजर आए। यह फिल्म जबरदस्त कामयाब रही। इसके बाद से ही आपको फिल्म सर्कल्स में अप्‍पू के नाम से पुकारा जाने लगा।फिर पुनीत ने पीछे मुड़कर नही देखा। लगभग हर साल मेगा फ‍िल्‍में दीं और कन्‍नड़ फ‍िल्‍मों के सबसे मशहूर और महंगे स्‍टार बन गए।
राजीव कपूर
रणधीर कपूर व दिवंगत ऋषि कपूर के छोटे भाई राजीव कपूर को भी बीते वर्ष हमने खो दिया। वे 58 साल के थे। राजीव को हार्ट अटैक आया था, जिसके तुरंत बाद उनके बड़े भाई रणधीर कपूर उन्हें अस्पताल ले गए थे। अभिनेता के निधन की बात की पुष्टि सबसे पहले नीतू कपूर ने इंस्टाग्राम पर की थी। मीडिया से बात करते हुए रणधीर ने पुष्टि की थी कि राजीव का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुई। राजीव की अंतिम यात्रा में कपूर परिवार के लोग शामिल थे। एक्टर रणबीर कपूर ने अपने चाचा राजीव कपूर को कंधा दिया।
राजीव कपूर ने 1983 में रिलीज हुई एक फिल्म से कैरियर की शुरुआत की थी। लेकिन पहचान 1985 में रिलीज राम तेरी गंगा मैली से मिली। राजीव नाग नागिन और अंगारे जैसी फिल्मों में भी बतौर एक्टर नजर आए थे। इसके अलावा उन्होंने अक्षय खन्ना और ऐश्वर्या राय स्टारर आ अब लौट चलें का निर्माण किया था। ऋषि कपूर और माधुरी दीक्षित अभिनीत प्रेम ग्रंथ में राजीव डायरेक्टर थे। राजीव कपूर ने आर्किटेक्ट आरती सभरवाल से शादी की थी। हालांकि जल्द ही उनका तलाक हो गया था।
श्रवण राठौर
हिंदी सिनेमा के मशहूर संगीतकार श्रवण राठौड़ को कोरोना ने हम सबसे छीन लिया था।डायबिटिक होने के साथ साथ कोरोना से उनके फेफड़े भी संक्रमित हो चुके थे जिसके कारण उन्हें बचाया नहीं जा सका। दिवंगत श्रवण का इलाज रहेजा अस्पताल में चल रहा था। उनके निधन के खबर की पुष्टि अस्पताल के ओर से की गई थी । महाकुंभ से लौटने के बाद से ही श्रवण बीमार चल रहे थे। जाने माने पार्श्व गायक उदित नारायण ने एवम श्रवण के बेटे ने निधन की पुष्टि की थी।
श्रवण किसी पहचान के मोहताज नहीं। उनकी और संगीतकार नदीम की जोड़ी ने फिल्मी दुनिया में काफी नाम कमाया। नदीम श्रवण की जोड़ी काफी हिट थी। 90 के दशक में दोनों ने एक से बढ़कर एक हिट गाने बनाए । महेश भट्ट की ‘आशिकी’ में दिए गए संगीत से उन्हें घर घर पहुंचा दिया। नदीम-श्रवण की जोड़ी का संगीत की दुनिया में दबदबा था। अपने साथी नदीम सैफी के साथ श्रवण राठौर ने कई शानदार फिल्मों में संगीत दिया। गुलशन कुमार की हत्या के बाद जोड़ी टूट गई थी।
रिंकू सिंह निकुंभ
अभिनेता आयुष्मान खुराना की को स्टार रिंकू सिंह निकुंभ को कोरोना ने हमसे छीना। निकुंभ की बहन चंदा सिंह निकुंभ ने इस दुखद खबर को शेयर किया था । रिंकू सिंह निकुंभ कोरोना वायरस की चपेट में आ गई थीं। जिसके बाद उनका इलाज चल रहा था। लेकिन उनकी हालत बिगड़ती गई और उन्हें बचाया नहीं जा सका। फिल्म ‘ड्रीम गर्ल’ के अलावा रिंकू ने कई टेलीविजन धारावाहिकों में भी काम किया था। रिंकू सिंह को उनके बेहतरीन अभिनय के लिए जाना जाता था। टीवी के मशहूर कॉमेडी शो ‘चिड़ियाघर’ से दर्शकों के दिलों में खास जगह बनाने वाली रिंकू आखिरी बार अमेजन प्राइम वीडियो की फिल्म हैलो चार्ली में नजर आईं थीं।
बिक्रमजीत कंवरपाल
फिल्मों और टीवी के अभिनेता मेजर बिक्रमजीत कंवरपाल को कोरोना वायरस ने हमसे बीते बरस छीन लिया। आर्मी से रिटायर्ड मेजर बिक्रमजीत केवल 52 साल के थे। कई फिल्मों और टीवी सीरियल्स में नजर आए थे। दिवंगत अभिनेता को कई किरदारों के लिए याद किया जाएगा। साल 2003 में कैरियर की शुरुआत करने वाले बिक्रमजीत ने दीया और बाती हम एवम 24 जैसे टीवी सीरियल्स में काम किया। फिल्मों में भी नाम कमाया। फिल्म एवम टेलिविजन जगत के कई लोग उनके चले जाने से स्तब्ध रहे।
राज कौशल
अभिनेत्री मंदिरा बेदी के पति राज कौशल भी बीते वर्ष गुज़र गए। 30 जून को दिल का दौरा पड़ने से राज अचानक चल बसे। परिवार के करीबी दोस्त जीतू स्वलानी ने ख़बर की पुष्टि की थी। राज कौशल एक एड मेकर एवम फ़िल्मों के निर्माण से जुड़े थे। आपने प्यार में कभी कभी एवम शादी के लड्डू जैसी फिल्मों का निर्देशन किया। पत्नी मंदिरा बेदी द्वारा पति का अंतिम संस्कार किया गया था।
अभिलाषा पाटिल
अभिनेत्री अभिलाषा पाटिल को भी कोरोना ने छीन लिया। अभिलाषा फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में बनारस गई थी। जब वापस मुंबई अपने घर लौटीं तो कोविड का शिकार थी। शुरूआती लक्षण दिखने के बाद उन्होंने अपना टेस्ट करवाया था। रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। शुरुआत में अपना इलाज घर पर ही करवा रही थीं। लेकिन सांस लेने में अचानक तकलीफ के चलते उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया। लेकिन उनकी तबीयत बिगड़ती गई और उन्हें बचाया नहीं जा सका। अभिलाषा के निधन से मराठी एवम हिन्दी फिल्म जगत शोक में रहा। अभिलाषा पाटिल मराठी सिनेमा की जाना-माना नाम थी।
शशिकला
हिंदी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री शशिकला का जाना भी पिछले साल की दुखद ख़बर थी। शशिकला साठ सत्तर दशक की हिट एक्ट्रेस ने 100 से अधिक हिन्दी फिल्मों में काम किया। आप एक मराठी परिवार से ताल्लुक रखती थीं। शशिकला की जिंदगी उतार चढ़ावों भरी रही। शौकत रिजवी की फिल्म जीनत से कैरियर की शुरुआत की थी। आपने बहुत ही छोटी उम्र में काम करना शुरू कर दिया था। शशिकला को 2007 में भारत सरकार द्वारा प्रतिष्ठित पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। फिल्मों में उनके योगदान के लिए वी. शांताराम लाइफटाइम अचीवमेंट सम्मान भी मिला। इसके अलावा शशिकला को आरती एवम गुमराह लिए दो फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिले।
यूसुफ हुसैन
वरिष्ठ चरित्र अभिनेता यूसुफ हुसैन का निधन भी सुर्खियों में रहा। टीवी एवम फिल्म जगत के यूसुफ साहेब ने 30 अक्टूबर को अंतिम सांस ली। युसूफ कोविड-19 से जूझ रहे थे। फिल्म निर्देशक हंसल मेहता ने इस खबर को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर साझा किया था। हंसल मेहता ने युसूफ हुसैन को बेहद भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी थी । उन्होंने लिखा वह मेरे ससुर नहीं बल्कि पिता थे। युसूफ हुसैन ने कई फिल्मों में काम किया था। उनके द्वारा निभाए गए जीवंत किरदार हमेशा के लिए याद किए जाएंगे।
ब्रह्म मिश्रा
मशहूर वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ में ललित का किरदार निभाने वाले सक्षम अभिनेता 32 वर्षीय ब्रह्मा मिश्रा का अचानक जाना भी बीते साल की दुखद घटना थी। ब्रह्मा मिश्रा का शव मुंबई में उनके फ्लैट के बाथरुम में मिला था। इसके बाद उनके शव को कूपर अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। वेब सीरीज में उनके साथ काम करने वाले दिव्येंदु ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ब्रह्मा मिश्रा को श्रद्धांजलि देते हुए खबर को शेयर किया था। ब्रह्म मध्य प्रदेश के रायसेन के रहने वाले थे। अभिनेता की मौत ने मनोरंजन जगत को स्तब्ध कर दिया था। साल 2013 में बॉलीवुड से अपनी शुरुआत करने वाले ब्रह्म की आखिरी फिल्म ‘हसीन दिलरुबा’ थी। ब्रह्मा मिश्रा ने अमिताभ बच्चन से लेकर अक्षय कुमार, सलमान सहित कई बड़े सितारों के साथ काम किया था। हालांकि सही मायनों में वेब सीरीज मिर्जापुर ने उन्हें मशहूर किया।
अनुपम श्याम
मशहूर टीवी सीरियल मन की आवाज़ प्रतिज्ञा में ठाकुर सज्जन सिंह का किरदार निभाने वाले अभिनेता अनुपम श्याम भी बीते बरस दुनिया छोड़ गए। किडनी में तकलीफ के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। अभिनेता के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। एक साल पहले भी लॉकडाउन के वक्त अनुपम श्याम की तबीयत बहुत बिगड़ गई थी। आर्थिक तंगी से जूझ रहे अभिनेता ने कई लोगों से मदद की गुहार लगाई थी। मन की आवाज प्रतिज्ञा के दूसरे सीजन की से आपने फिर से वापसी की थी। अनुपम श्याम ने कई फिल्मों में काम किया लेकिन पहचान उन्हें टेलीविजन से ही मिली। लखनऊ के भारतेन्दु नाट्य अकादमी के ग्रेजुएट अनुपम ने थियेटर से शुरुआत की थी । देखते ही देखते अदाकारी का सपना लिए मुंबई चले आए।तीन दशक के अपने कैरियर में अनुपम श्याम ओझा ने फ़िल्म एवम टीवी में कई यादगार काम किए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.